लेख

राजनेता भी सेवानिवृत्ति लेना सीखें

0
प्रकृति की व्यवस्था के अनुसार प्राणी मात्र के सक्रिय जीवन जीने की अवधि निर्धारित है। जब कार्य क्षमता कम हो जाती है तो प्राणी...

अमेरिका का प्रजातंत्र

0
आजकल सभी प्रकार के मीडीया बहुत सक्रिय हैं। छोटी से छोटी खबर भी उनसे बच नहीं सकती। फिर भी अमेरिका की दो घटनांए ऐसी...

अजूबा ही नहीं, एक तिलिस्म है मानवी शरीर..

0
अपनी अंगुलियों से नापने पर 96 अंगुल लम्बे इस मनुष्य शरीर में जो कुछ है, वह एक बढ़कर एक आश्चर्यजनक एवं रहस्यमय है। विशिष्टता हमारी...

माँ की सीख -डॉ. रीना मालपानी

0
लघुकथा कहते है कि माँ जीवन की प्रथम गुरु होती है, पर वही माँ जब जीवन में व्यवहारिक ज्ञान के साथ आध्यात्मिक ऊंचाइयों पर भी...

सितम्बर में देवी,देवताओं के साथ पितरों की भी कृपा बरसेगी- पण्डित रामचंद्र शर्मा वैदिक

0
इंदौर । धर्मशास्त्रीय विषयों के प्रामाणिक आचार्य,मध्यप्रदेश ज्योतिष एवं विद्वत परिषद के प्रदेशाध्यक्ष पण्डित रामचंद्र शर्मा वैदिक ने बताया कि पूरा माह श्रीगणेश जी,भगवती...

हरतालिका तीज : अनूठा विश्वास व्रत-डॉ. रीना रवि मालपानी

0
  अखंड सौभाग्य प्राप्ति के निमित्त किया जाता यह व्रत। सृष्टि की अनुपम जोड़ी करती जीवन में ज्योति जागृत॥ हिमालय की पुत्री ने की तपस्या अविचल। शिव प्राप्ति...

गोल्डन इनसाइट: एंटरप्राइज़िंग नॉलेज’ का हुआ विमोचन

0
डॉ डेविश जैन के 65वें जन्मदिन पर उनकी नयी पुस्तक `गोल्डन इनसाइट: एंटरप्राइज़िंग नॉलेज' का हुआ विमोचन। इंदौर। प्रेस्टीज एजुकेशन फाउंडेशन के चेयरमैन, प्रेस्टीज यूनिवर्सिटी...

द्रौपदी मुर्मू: पहली बार तबके से शीर्ष तक-भावना शर्मा

0
भारतीय संस्कृति सदैव से ही मातृशक्ति की आराधक व पूजक के रूप में संसार में प्रसिद्ध है। शक्ति की उपासना और प्रथम स्थान की...

व्यक्ति विशेष-करोड़ों भारतीयों का अभिमान हैं “द्रौपदी मुर्मू”

0
सत्येंद्र जैन चंद दिनों में भारत के प्रथम नागरिक,राष्ट्रपति का चुनाव हो जाएगा एवं मतगणना का परिणाम भी आ जाएगा ।विश्व के प्राचीनतम लोकतंत्र( मदर...

मानवीय अवतार में श्रीराम की मार्मिक स्थिति” – रीना रवि मालपानी

0
  कहते है कर्मो का फल इंसान को हमेशा भोगना पड़ता है। यही बात प्रभु ने मनुष्य अवतार लेकर हर समय सिद्ध की है। श्रीराम...

सम्मान वाला गुलाब – डॉ. रीना रवि मालपानी

0
 लघुकथा             पता नहीं पर आज कैसे चन्द्रशेखर ने ऊमा को गुलाब का फूल देने का सोचा और यह गुलाब सम्मान के भाव से समाहित...

करें जीवन सरिता में शिवधारा का प्रवाह”- रीना रवि मालपानी

0
*“करें जीवन सरिता में शिवधारा का प्रवाह”* भोलेनाथ को सभी देवताओं ने महादेव की संज्ञा दी है। शिव का श्रंगार, त्याग, ध्यान की उत्कृष्ट पराकाष्ठा...

अंजनीपुत्र का अनुकरणीय चरित्र-डॉ. रीना रवि मालपानी

0
*“अंजनीपुत्र का अनुकरणीय चरित्र”* यदि हम रामायण में रामदूत भक्तशिरोमणि हनुमान के चरित्र की सबसे अनुकरणीय विशेषता पर ध्यान केन्द्रित करें तो हम पाएंगे की...

उमंगों की उड़ान – डॉ. रीना रवि मालपानी

0
लघुकथा जानकी गोपाल की परवरिश को लेकर बहुत चिंतित थी। बहुत सारी समस्याओं से घिरे होने के कारण वह हर समय गोपाल के बारे में...

गरीबों का अमीर दिल – डॉ. रीना रवि मालपानी

0
लघुकथा पार्वती अक्सर अपने पुत्र कान्हा के साथ ईधर-उधर घूमने जाया करती थी। बच्चा खेलते-खेलते जिस घर रुक गया बस उसे भी वहीं रुकना होता...

मेहनतकश मजदूर की तस्वीर” _   डॉ. रीना रवि मालपानी

0
मेहनतकश मजदूर की तस्वीर” मजदूर की तस्वीर होती मेहनत और हौसलों की उड़ान से भरी। वैसे तो हर व्यक्ति की आवश्यकताओं की है अपनी-अपनी कटघरी॥ रोटी की...

भक्ति की शक्ति का प्रभाव” -डॉ. रीना रवि मालपानी

0
   कहते है ईश्वर प्रत्येक आडंबर से दूर केवल भक्त के अधीन होते है। यही भगवान जब भक्त किसी विकट परिस्थिति में होता है...