लेख

अमृतकाल में जनजातीय समुदाय की आकांक्षाओं का हो रहा है सम्मान- विष्णुदत्त शर्मा

0
अमृतकाल में जनजातीय समुदाय की आकांक्षाओं का हो रहा है सम्मान- विष्णुदत्त शर्मा भोपाल। आज़ादी का ये अमृतकाल, आत्मनिर्भर भारत के निर्माण का काल है।...

मध्यप्रदेश चुनाव: टिकट की मारामारी इसलिए क्योंकि राजनीति ही सर्वाधिक ‘लाभ का धंधा’ है ?

0
अजय बोकिल सबसे बड़ा सवाल तो यह है कि क्या अब चुनाव का टिकट पाना या उसका कटना ही नेताओं के जीवन- मरण का प्रश्न...

विश्वसनीयता तो केवल और केवल हिंदुओं में ही है! धर्मेंद्र श्रीवास्तव…… ✍️✍️

0
त्वरित लेख-: धर्मेंद्र श्रीवास्तव पाकिस्तान के सिंध प्रांत में मंदिरों की सुरक्षा को लेकर.......  ( 400 हिंदू) पुलिसकर्मियों को तैनात करना इस बात का प्रमाण है.......... टीवी,...

संसार की नदिया है, शक्ति स्वरूपा जल, मनुष्य के सौंदर्य और समृद्धि का प्रतीक!

0
लेख -: धर्मेंद्र श्रीवास्तव आओ करें पानी पर संवाद, तभी रहेगा पृथ्वी पर अखिल ब्रह्मांड, में मानव समाज और इसकी आदि अनादि संस्कृति.......... हम सभी जानते हैं...

स्वदेशी संसद का शुभारंभ एवं कांग्रेस समेत अनेक विपक्षी दलों में हाहाकार

0
लोकसभा सचिवालय द्वारा स्वदेशी नवनिर्मित संसद भवन का शुभारंभ कार्यक्रम 28 मई को निर्धारित हो चुका है ।यह संयोग है कि भारतीय स्वतंत्रता संग्राम...

कांग्रेस की संघ पर प्रतिबंध की प्रबलेच्छा तुष्टिकरण की विष बेल

0
कर्नाटक में कांग्रेस की सरकार का गठन हुए एक सप्ताह ही व्यतीत हुआ है ।वहां पर तुष्टीकरण, अपीजमेंट पॉलिटिक्स प्रारंभ हो गई है ।तुष्टीकरण...

देश में भ्रष्टाचार अपरम्पार

0
हमारे देश में व्याप्त भ्रष्टाचार पर कई बार लिखा जा चुका है किन्तु आए दिन भ्रष्टाचार की खबरंे जिस तरह से आती है। उन्हें...

आंतकियों के विरूद्ध अधिक आक्रामक नीति आवश्यक

0
कश्मीर से धारा 370 हटाना भारत सरकार का बहुत साहसिक और सदाशयता पूर्ण कदम था। यह कश्मीर को देश की मुख्य धारा में मिलाने...

ब्रह्मांड अस्तित्व का मूल है, (महिला) अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस, विशिष्ट लेख, धर्मेंद्र श्रीवास्तव,

0
"अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस" लेख-: धर्मेंद्र श्रीवास्तव,अबला नहीं,सबला है, महिला, ब्रह्मांड अस्तित्व का मूल है, महिला.... "यत्र नारी पूज्यंते तत्र देवता रमंते"वेदों का सार है, स्त्री.....  महिला दिवस उत्सव सही मायने...

राजनेता भी सेवानिवृत्ति लेना सीखें

0
प्रकृति की व्यवस्था के अनुसार प्राणी मात्र के सक्रिय जीवन जीने की अवधि निर्धारित है। जब कार्य क्षमता कम हो जाती है तो प्राणी...

अमेरिका का प्रजातंत्र

0
आजकल सभी प्रकार के मीडीया बहुत सक्रिय हैं। छोटी से छोटी खबर भी उनसे बच नहीं सकती। फिर भी अमेरिका की दो घटनांए ऐसी...

अजूबा ही नहीं, एक तिलिस्म है मानवी शरीर..

0
अपनी अंगुलियों से नापने पर 96 अंगुल लम्बे इस मनुष्य शरीर में जो कुछ है, वह एक बढ़कर एक आश्चर्यजनक एवं रहस्यमय है। विशिष्टता हमारी...

माँ की सीख -डॉ. रीना मालपानी

0
लघुकथा कहते है कि माँ जीवन की प्रथम गुरु होती है, पर वही माँ जब जीवन में व्यवहारिक ज्ञान के साथ आध्यात्मिक ऊंचाइयों पर भी...

सितम्बर में देवी,देवताओं के साथ पितरों की भी कृपा बरसेगी- पण्डित रामचंद्र शर्मा वैदिक

0
इंदौर । धर्मशास्त्रीय विषयों के प्रामाणिक आचार्य,मध्यप्रदेश ज्योतिष एवं विद्वत परिषद के प्रदेशाध्यक्ष पण्डित रामचंद्र शर्मा वैदिक ने बताया कि पूरा माह श्रीगणेश जी,भगवती...

हरतालिका तीज : अनूठा विश्वास व्रत-डॉ. रीना रवि मालपानी

0
  अखंड सौभाग्य प्राप्ति के निमित्त किया जाता यह व्रत। सृष्टि की अनुपम जोड़ी करती जीवन में ज्योति जागृत॥ हिमालय की पुत्री ने की तपस्या अविचल। शिव प्राप्ति...

गोल्डन इनसाइट: एंटरप्राइज़िंग नॉलेज’ का हुआ विमोचन

0
डॉ डेविश जैन के 65वें जन्मदिन पर उनकी नयी पुस्तक `गोल्डन इनसाइट: एंटरप्राइज़िंग नॉलेज' का हुआ विमोचन। इंदौर। प्रेस्टीज एजुकेशन फाउंडेशन के चेयरमैन, प्रेस्टीज यूनिवर्सिटी...

द्रौपदी मुर्मू: पहली बार तबके से शीर्ष तक-भावना शर्मा

0
भारतीय संस्कृति सदैव से ही मातृशक्ति की आराधक व पूजक के रूप में संसार में प्रसिद्ध है। शक्ति की उपासना और प्रथम स्थान की...

व्यक्ति विशेष-करोड़ों भारतीयों का अभिमान हैं “द्रौपदी मुर्मू”

0
सत्येंद्र जैन चंद दिनों में भारत के प्रथम नागरिक,राष्ट्रपति का चुनाव हो जाएगा एवं मतगणना का परिणाम भी आ जाएगा ।विश्व के प्राचीनतम लोकतंत्र( मदर...